पछिह्वा बयाल

पछिह्वा बयाल

कविता
पछिह्वा बयाल

जहसक सुरसुर सुरसुर
बयाल बहटी रह
ओसहक यी मनम छन्छन्डिक सवाल कुड्गट रह
का जुग आगिल
का जबाना आगिल
बाबाहन ड्याडी कह लग्ल
डाइह मम्मी कह लग्ल
काकहन अंकल कह लग्ल
काकीह आन्टी कल लग्ल
बेल्स छोर सेक्ल अपन घरम,
बोल्टी मजा लग्ना हमार थारु भासा
का जुग आगिल
का जबाना आगिल

आसकाल बिचारी संस्कृतिह ब्वाँगिस डेख्ठुँ
डिल खोल्क पुछ्नस मन लागठ
खै ट टुँहार सोल्ह सृंगार
खै ट टुँहार घ्याँचक सुट्या गुर्या
खै ट टुँहार माठक टिकुली
खै ट टुँहार नाकक नठिया
खै ट टुँहार कानक झिल्मिल्या
खै ट टुँहार कपारिम लाल झोबन्हा
खै ट टुँहार हाँठक लाखक चुर्या, टरिया
खै ट टुँहार ग्वाराक अंग्रीभर चौवन्नी अठ्न्नी पैसाक मुन्ड्रि
का जुग आगिल
का जबाना आगिल

महटान अग्ङ्ना सुन्सान होगिल
मेरमेरिक नाचगान गिटमृडंग कहाँगिल ?
गाउँ चौंकस करैना सख्या, हुर्डुङ्ग्वा नाच कहाँगिल ?
मघौटा नाच, डफ, ढुमरु, बर्किमार, ढमार कहाँगिल ?
असिन मिठ ढरानम गाजिना माँगर कहाँगिल ?
छँयाक अन्सार गाजिना सजना, मैना कहाँगिल ?
चन्डोलम डुल्हा बराट जैना सिहिनी होगिल
डोलिम डुल्हि बोक्ना सिहिनि होगिल
अघट्यक पूर्खनक चलाइल रिट कहाँगिल ?
का जुग आगिल
का जबाना आगिल

वर गम्हिर मन लेल
हाँठ जोर्टी
डिहुरारिक सौरा, खेख्री, मैयाँ, गुर्बाबा, पाटा, झोर्यासे पुछ्नु
झोरी मन्टरा उस्टा उस्टा खोज्नु
कोनि काटर हठ्ला हठ्ला खोज्नु
संन्ढ्री कोन्वाम डिया बारबार खोज्नु
सुपले फटक–फटक केरा–केरा खोज्नु
डोह्री, कुठ्ली, भौका, भौकी झारझार खोज्नु
टबुन नि भेटैनु,
का जुग आगिल
का जबाना आगिल
सौस्याटल मन, फुस्सर ढ्याबर लेक
महटान बुडुहन पुछ्नु
बुडु एक्क अँख्राम
बरा नम्मासे उप्पर साँस लेटि कल
पछिह्वा बयाल उराके लैगिल ।

डियर अबिरल
बर्दिया

डियर अबिरल

डियर अबिरल

जनआवाजको टिप्पणीहरू

पाछेक साहित्य

गजल

पट्ठरहे खुशी पारक लाग फुला चह्राइक् परठ ।ना बोलठ् ना चलठ टबफें शिर झुकाइक् परठ । स्वार्थी समाज स्वार्थी संसार अस्टही बा यहाँ,केकरो चोटमे अपन मन काहे रुवाइक्


वसन्त चौधरी

सुर्खेत ओ दाङके सम्झना

संस्मरण कृष्णपुर गुलरिया कंचनपुरसे थारुनके धरोहर जोगराज चौधरीके नेतृत्वमे वडा नम्बर ३,५,६ केअध्यक्ष क्रमश सुन्दर चौधरी, आशुराम चौधरी, नत्थुराम चौधरी ओ


वीरबदाहुर राजवंशी


वसन्त चौधरी